Sunday, October 4, 2009

चित्र पहेली 8 का जवाब : जी हाँ ये थी कौसानी की सिंदूरी शाम

जी हाँ, इस प्रविष्टि के शीर्षक की तरह ही जब आप बारिश की एक अलसायी शाम में इस हिल स्टेशन के करीब पहुँचते हैं तो सड़क के दोनों ओर चीड़ के पेड़ आपका बाहें फैलाए स्वागत करते हैं। आप पूछेंगे पेड़ों की बात तो ठीक है पर शाम कैसे सिंदूरी हो जाएगी यहाँ आकर? इस प्रश्न का जवाब आपको मैं नहीं बल्कि ये नयनाभिराम चित्र देंगे।


अब सोचिए तो ऍसे हसीन रास्ते में चहलकदमी का मौका मिले तो कौन कवि ना बन जाए !

तो कैसी लगी बारिश में भीगी चीड़ वन की ये सिंदूरी शाम? ज़ाहिर हुए मेरी तरह आप भी इन चित्रों से मोहित हुए बिना नहीं रह पाए होंगे। तो अब बताइए कि ये हिल स्टेशन कौन सा है जो अपने हर आंगुतक का इन खूबसूरत नज़ारों से स्वागत करता है?
अब एक नज़र संकेतों की तरफ



संकेत 1 : इस हिल स्टेशन की ऊँचाई समुदतल से 2000 मीटर से थोड़ी कम है।

चीड़ वृक्षों की सूख कर गिरी हुई इन सिंदूरी पत्तियों से आपका स्वागत करता ये हिल स्टेशन कौसानी ही है। कौसानी उत्तरांचल के प्रसिद्ध पर्यटन स्थल अल्मोड़ा से मात्र ५३ किमी उत्तरपश्चिम में समुद्रतल से ६२०१ फीट ऊँचाई पर स्थित है। एक ओर सोमेश्वर तो दूसरी ओर गरुड़, बैजनाथ कत्यूरी घाटियों के बीच बसे इस रमणीक कस्बे से आप हिमालय पर्वतमाला की नंदा देवी, माउंट त्रिशूल, नंदाकोट, नीलकंठ आदि चोटियों का विहंगम दृश्य देख सकते हैं।

संकेत 2 : यह भारत के एक प्रसिद्ध कवि का जन्मस्थान है।

जी हाँ, कौसानी हिंदी के प्रसिद्ध कवि सुमित्रानंदन पंत का जन्म स्थान है।
संकेत 3: भगवत गीता के अनुवाद पर आधारित कर्मयोग से जुड़ी एक किताब का लेखन यहीं किया गया।

१९२९ में महात्मा गाँधी कौसानी के अनासक्ति आश्रम में आए और यहीं रह कर उन्होंने गीता के श्लोकों का सरल अनुवाद करके ‘अनासक्ति योग’ का नाम दिया। बाद में उनके विचारों का संकलन पुस्तक के रूप में प्रकाशित हुआ।



किसने दिया सही जवाब ?
इस बार की पहेली का सबसे पहले सही जवाब दिया अल्पना जी ने। अल्पना जी को हार्दिक बधाई। वैसे प्रेमलता पांडे जी और अभिषेक ओझा थोड़ा देर से आए पर सही जवान के साथ आए। बाकी लोगों का अनुमान लगाने और अपनी प्रतिक्रियाएँ देने के लिए हार्दिक आभार।

10 comments:

  1. Ans-Kausani.
    -famous Hindi poet Sumitra Nandan Pant and the famous folk singer Gopidas belong to Kausani.
    -Gandhiji wrote a book 'Ana-Shanti Yoga'

    ReplyDelete
  2. जगह का नाम तो पता नही पर जगह बहुत खूबसूरत लग रही है।

    ReplyDelete
  3. ग्वालदम से कौसानी जाने का रास्ता है ये तो. अगर कवि से सुमित्रानंदन पन्त माना जाया तो हमार उत्तर कौसानी ही माना जाय.

    ReplyDelete
  4. Don't know the place but now it's in my list to visit. The place is very beautiful.

    ReplyDelete
  5. अरे इतनी आसान पहेली??? यह तो भाई हिल स्टेशन है, जहा चीड के बहुत से पेड लगे है

    ReplyDelete
  6. Good one ..Thoda vakt lag gaya ate ate ...:))

    ReplyDelete

LinkWithin

Related Posts with Thumbnails