Tuesday, May 14, 2013

राँची का पहला IPL मैच : आइए ले चलें आपको JSCA क्रिकेट स्टेडियम के अंदर !

मुसाफ़िर हूँ यारों पर यूँ तो आप मेरे साथ किसी नई जगह पर हमेशा जाते ही रहते हैं। पर आज का हमारा सफ़र थोड़ा अलग है। चलिए आज आपको ले चलता हूँ राँची के जे. एस. सी. ए. इंटरनेशनल स्टेडियम ( JSCA International Stadium) में जो पिछले साल ही बन कर तैयार हुआ है। वैसे  क्रिकेट खेलना और कमेंट्री सुनना तो बचपन से ही मेरा प्रिय शगल रहा है। बात 1979 की है। भारत आस्ट्रेलिया के बीच टेस्ट सीरीज़ चल रही थी। मैं उस वक़्त दशहरे की छुट्टियों में नानी के यहाँ कानपुर गया हुआ था। क्रिकेट के प्रति मेरे उत्साह को देखते हुए मुझे कानपुर के ग्रीन पार्क में टेस्ट मैच के तीसरे दिन का खेल देखने भेजा गया था।  घावरी की गेंदबाजी, रिक डार्लिंग का किरमानी द्वारा लिया असंभव सा कैच, दर्शकों द्वारा जब तब शीशे चमका कर विदेशी खिलाड़ियों को परेशान करना तीन दशकों के बाद भी स्मृतियों से बाहर नहीं गया है। इसीलिए जब पिछली बार राँची में हुए एक दिवसीय मैच को ना दिखा पाने की वज़ह से बेटे के चेहरे पर मायूसी दिखी तो अपना बचपन याद आ गया। यही वज़ह थी कि राँची में पहली बार जब IPL का मैच हुआ तो मई की गर्मी की परवाह ना करते हुए भी मैंने दो टिकट खरीद लिए।


मैच से एक दिन पहले तक राँची बुरी तरह तप रही थी। ग्यारह को तापमान 41-42 डिग्री के बीच डोल रहा था और बारह के लिए भी इसी तरह का पूर्वानुमान था। मैच वाले दिन मौसम ने अचानक करवट ली। धूप तो वैसी ही रही पर बीच बीच में हल्के बादल उसकी तपिश को कम करते रहे। तीन बजे तक मौसम बेहद सुहावना हो गया। यहाँ तक कि धूप भी नदारद ही हो गई। 

टेस्ट क्रिकेट के माहौल के बाद सीधे IPL  का मैच देखना एक बिल्कुल अलग तरह का अनुभव रहा। अब तक सुनता आया था कि IPL एक मनोरंजक सर्कस है।स्टेडियम में घुसते समझ भी आ गया कि ऐसा क्यूँ है? हाई डेसिबल पर बजता संगीत, रंग बिरंगे परिधानों में आए दर्शक, विज्ञापनों के साथ चमकती निओन लाइट्स, हर ओवर के बाद थिरकती चीयर लीडर्स और उनके बीच आतिशी क्रिकेट का रोमांच आपको मस्ती के मूड में ले तो आते ही हैं।

तो आइए आपको ले चलें इस खूबसूरत स्टेडियम के अंदर। इसका मुख्य द्वार नार्थ पैवेलियन के नाम से जाना जाता है। हमारी सीटें इसकी दायीं तरफ़ थीं।




यूँ तो राँची KKR का कोलकाता के बाद दूसरा होम ग्राउंड है पर धोनी की वजह से राँची की जनता चेन्नई सुपर किंग्स के आलावा किसी और टीम को अपना अभी तक नहीं मान पाई है। धोनी की अनुपस्थिति में लोगों में सबसे ज्यादा दिलचस्पी क्रिस गेल को लेकर थी। हमारे साहबजादे भी गेल,कोहली और डिविलियर्स की तिकड़ी के सामने अपनी होम टीम से सारा मोह त्याग चुके थे।


यही हाल हमारे स्टैंड के अधिकांश दर्शकों का था। इधर सेनानायके ने पहली गेंद फेंकी और उधर RCB का मंत्रोच्चारण शुरु। KKR के खिलाड़ियों को राँची वालों ने ऐसा अनुभव ही नहीं होने दिया कि वो अपने घरेलू मैदान में खेल रहे हैं। वैसे हमने स्टाक में  झंडे हर तरह के रख लिए थे ताकि परिस्थिति के हिसाब से पाला बदला जा सके :)।


वैसे अंत में हुआ भी यही। एक एक कर के RCB के सूरमा ढेर होते रहे और आख़िरकार हमने भी कोरबो,लड़बो जीतबो का गान आरंभ कर दिया।


चौकों छक्कों से IPL को जोड़ने वालों को पिच के कारण निराशा जरूर हाथ लगी पर पहली बार इस माहौल का हिस्सा बनने की खुशी भी राँचीवासियों के चेहरे पर साफ दिखाई दे रही थी। तो चलते चलते इक नज़र मैदान के अंदर के माहौल पर..

कोलकाता नाइट राइडर्स की प्री मैच प्रैक्टिस (Pre match practice: Kolkata Night Riders)


खचाखच भरी दर्शक दीर्घा

लाल ज्यादा या बैंगनी ? (Which colour is predominant Red or Violet ?) 

लीजिए शुरु हुई RCB की पारी !

दूधिया रोशनी मे नहाया JSCA का हरा भरा मैदान !

अगर लेट कर मैच का लुत्फ़ उठाना हो तो उसके लिए भी है इस स्टेडियम में व्यवस्था !

खेल खतम पैसा हजम :)

वैसे एक बात तो समझ आई कि टीवी वाले जितना दिखाते हैं उतना ही छुपा भी लेते हैं। आपको दिखता है कि रमीज़ राजा टॉस करवा रहे हैं पर ये नहीं दिखता कि बगल में ही पिच पर झाड़ू भी लगाई जा रही है। कोहली गेल को पीछे जाने को कह रहे हैं और गेल बल्लेबाज के ठीक सामने ही बैठ कर मजाक़ में अपनी पोजीशन ले रहे हैं। मैदान में इतनी बातें एक साथ होती रहती  हैं कि मैच पर आप उस तरह से ध्यान नहीं रख सकते जैसा टीवी के साथ बंद कमरे में। पर ऊपर के स्टैंड से एक साथ तौन सौ साठ डिग्री का जो दृश्य दिखता है वो निश्चित ही आकर्षक होता है। शोर और संगीत एक अलग ही माहौल की रचना करते हैं जिसका आनंद आप ने अगर अब तक ना उठाया हो तो एक बार जरूर उठाइए।

आप फेसबुक पर भी इस ब्लॉग के यात्रा पृष्ठ (Facebook Travel Page) पर इस मुसाफ़िर के साथ सफ़र का आनंद उठा सकते हैं।

13 comments:

  1. चियरलीडर्स की एक भी फोटो नहीं
    :-)

    ReplyDelete
  2. आपका सवाल लाज़िमी है पर मोबाइल कैमरे की रेंज से उनकी स्पष्ट छवि ले पाना टेढ़ी खीर थी।

    ReplyDelete
  3. वाह, रंग बिरंगा राँची देखो।

    ReplyDelete
    Replies
    1. हाँ उस दिन राँची भी लाल पीली (मुहावरे वाली नहीं :))हो गई थी।

      Delete
  4. ham v .. ipl 1st mach kkr vs dd in kolkata...sach bahut majaaya

    ReplyDelete
    Replies
    1. विशुद्ध क्रिकेट की बात करें तो टेस्ट मैच का कोई सानी नहीं पर विशुद्ध मनोरंजन के साथ क्रिकेट का मतलब IPL ही है।

      Delete
  5. Bahut Achha Raha Ranchi Ka IPL tak ka safar aapke sath manish bhai

    ReplyDelete
    Replies
    1. Sath bane rahne ke liye shukriya Ravi !

      Delete
    2. Aji Hum to har kadam pe aapke Satha hai Janab

      Delete
  6. हमारी भी इच्छा थी यहाँ एक मैच देखने की पर कोई साथ में जाने वाला नहीं मिला...
    :(

    ReplyDelete
    Replies
    1. अगली बार सही। इस बार टिकट थोड़े मँहगे जरूर थे।

      Delete
  7. bharat ke behtareen stadiums mein se ek,

    ReplyDelete
    Replies
    1. सहीं कह रहे हैं जनाब !

      Delete

LinkWithin

Related Posts with Thumbnails