Sunday, April 26, 2015

क्यूँ खास है येरकाड की ये स्काइवॉक Skywalk of GRT Nature Trails Resort, Yercaud

येरकाड या यरकौद में यूँ तो होटलों की कमी नहीं है पर बीसवें हेयरपिन बेंड के ठीक बाद GRT Nature Trails में अगर ना भी रुकें तो यहाँ एक बार भोजन करना तो बनता है सिर्फ इसलिए नहीं कि यहाँ के व्यंजन लजीज़ हैं बल्कि खासतौर से इसलिए कि यहाँ के SKYWALK से आप येरकाड घाटी का अद्भुत नज़ारा देख सकते हैं। येरकॉड की छोटी सी यात्रा में हमने दिन का जलपान यहीं किया। तो आइए आज के इस फोटो फीचर में दिखाते हैं यहाँ के रेस्त्राँ के अंदर और बाहर से दिखते कुछ अद्भुत दृश्य.. 

आकाश के रास्ते वादियों को छू लेने की कोशिश है ये SKYWALK

रेस्त्रां का ऊपरी हिस्सा जिसका थीम कलर है गहरा नीला

इसका नाम है Salem Heights और इसके बाहर दिखते पुल को पार कर आप जा पहुँचते हैं Skywalk पर
दरअसल Skywalk नाम इसे इसलिए मिला है कि ये हिस्सा पहाड़ी से बाहर की ओर लटका प्रतीत होता है।

यहाँ की साज सज्जा तो सुंदर है ही, रात के वक्त इन्हीं सीढ़ियों से ऊपर जाकर आप चाँदनी रात में Bonfire का आनंद भी उठा सकते हैं

Skywalk की Terrace पर लगी इन कुर्सियों पर चाय की चुस्कियाँ लेते हुए येरकाड घाटी के सौंदर्य को घंटों निहार सकते हैं।

हरी भरी घाटी.. खाली कुर्सी .. बस उनके साथ की तलबगार है :)

हम तो यहाँ दोपहर दो के करीब पहुँचे। सुबह और शाम को हरे भरे पेड़ों से भरी पूरी इस घाटी के आलावा आपको यही से सेलम शहर के मैदानों के भी स्पष्ट दर्शन हो जाते हैं।


यहाँ खाना पीना उतना मँहगा नहीं पर रहना जेब को काफी भारी पड़ता है। सीजन के हिसाब से यहाँ के कमरे की दरें प्रति दिन पाँच हजार या उससे भी ज़्यादा हो सकती हैं। इसलिए मेरी सलाह तो यही है कि यहाँ रहें ना रहें पर जलपान के लिए रुक कर इन नज़ारों को देखना ना भूलें..
अगर आपको मेरे साथ सफ़र करना पसंद है तो फेसबुक पर मुसाफ़िर हूँ यारों के ब्लॉग पेज पर अपनी उपस्थिति दर्ज़ कराना ना भूलें। मेरे यात्रा वृत्तांतों से जुड़े स्थानों से संबंधित जानकारी या सवाल आप वहाँ रख सकते हैं।

6 comments:

  1. हरे भरे दृश्यों से भरी यरकौड घाटी, मजा आ गया देखकर

    ReplyDelete
    Replies
    1. शुक्रिया पसंदगी का !

      Delete
  2. अद्भुत नजारे प्रकृति के और मानव की उड़ान के भी ..वाह

    ReplyDelete
    Replies
    1. सही कहा गिरिजा जी !

      Delete
  3. प्रकृति के साथ रह कर जो ख़ुशी मिलती है .... उस को महसूस करने में अछा लगता है।

    ReplyDelete

LinkWithin

Related Posts with Thumbnails