Sunday, December 13, 2015

हरियाली डफरिन द्वीप और उसके आस पास के इलाकों की Dufferin Islands, Niagara Falls

नियाग्रा के जलप्रपत से पहले यानि दक्षिण की ओर बढ़ने से एक बेहद हरा भरा इलाका आ जाता है। इस इलाके के बायीं ओर खूबसूरत उद्यान हैं तो दायीं ओर नियाग्रा नदी की जलधारा से बने छोटे मोटे द्वीप जिन्हें डफरिन द्वीप समूह कहा जाता है। इससे पहले कि मैं आपको यहाँ की मन मोहने वाली हरियाली के दर्शन कराऊँ कुछ बातें इसके इतिहास के बारे में। 

Maple Tree मेपल का वृक्ष जो निशानी है कनाडा की
उन्नीस वीं शताब्दी की शुरुआत तक इस इलाके की तरफ़ नियाग्रा नदी की चट्टानीय ढलान होने के कारण पानी बह कर छोटे छोटे द्वीपों में बँट जाता था। बाद में यहाँ एक बिजली घर बनने के बाद पानी की धारा धीमी और बेतरतीब हो गई। पर यहाँ की मिट्टी ने ऐसी परिस्थितियों में वनस्पतियों का ऐसा जाल अपने चारों ओर बुना कि इसके बीच से होकर गुजरना किसी भी आगुंतक के लिए प्रकृति को अपने में समाहित करने का अहसास दिला जाता है।

Route of Niagara Falls to Dufferin Islands
अगर नियाग्रा जाएँ और जलप्रपात के आस पास की भीड़ से आपका दिल उब जाए तो चुपचाप जलप्रपात को पार कर नियाग्रा नदी के किनारे किनारे करीब डेढ़ किमी आगे बढ़िए। इस सड़क पर आपको दायीं ओर डफरिन द्वीपों की ओर जाने का रास्ता मिलेगा।


एक बार आपने पानी की पतली धारा के ऊपर बना लकड़ी का पुल पार किया कि आप इस हरी भरी शांत दुनिया में प्रवेश कर लेंगे। जैसे ही हम इस इलाके में घुसे देखिए किसने हमारा प्यार भरा स्वागत किया।

Kids enjoying their evening walk बच्चों की शाम की सैर :)

मेपल के जंगल से आगे निकले तो अचानक ये झील सामने आ गई। सिवाय कुछ लोगों के जो वहाँ मछली मारने आए थे वहाँ कोई चहलपहल नहीं थी। हलचल थी तो सिर्फ पक्षियों की..

We are family..हम साथ साथ हैं :)

Black & White but so bright श्वेत धवल रंगों में निखरती सुंदरता

The world is so colorful ये दुनिया रंग बिरंगी

The whole group with our host
डफ़रिन द्वीपों के बगल में कभी लकड़ी की कटाई व लोहा बनाने का कारखाना अठारहवीं शताब्दी में लगाया गया था। कहते हैं कनाडा में बनने वाली पहली लोहे की छड़ यहीं से बनी। पर उन्नसवी शताब्दी में अमेरिकी सेनाओं से हुए युद्ध के दौरान कनाडा की आर्थिक शक्ति का केंद्र रही इन मिलों में आग लगा दी गई।

Add caption

आज यहाँ कारखानों का कोई निशान नहीं है पर पत्थर की बनी तख्ती यहाँ जरूर लगा दी गई है जिसमें यहाँ का इतिहास दर्ज है। इस इलाके का नाम तब ब्रिजवाटर मिल्स हुआ करता था।

Alas ! The path never ends..काश ! ये डगर कभी ख़त्म ना हो

अब यहाँ ब्रिज और वाटर तो है पर मिल्स नदारद हैं क्यूँकि इसे नियाग्रा पार्क प्राधिकार ने अपने नियंत्रण में ले लिया है। सच यहाँ आकर  घास के मैदानों में बिछ जाने का मन करता है। इचछा होती है कि पक्षियों और पानी के मिश्रित कलरव के बीच इन हरी भरी वादियों से अपने दिल को हरा कर लें।

Water diverted for power gen. नियाग्रा नदी की एक धारा से बिजली बनाने के लिए संचित जल


Upstream of Horse Shoe Falls नियाग्रा जलप्रपात बनने के पहले नदी की धारा

Dangerous rapids in Niagara River असमान ढलान की वज़ह से नियाग्रा नदी का तेज बहाव
अगर आपको मेरे साथ सफ़र करना पसंद है तो फेसबुक पर मुसाफ़िर हूँ यारों के ब्लॉग पेज पर अपनी उपस्थिति दर्ज़ कराना ना भूलें। मेरे यात्रा वृत्तांतों से जुड़े स्थानों से संबंधित जानकारी या सवाल आप वहाँ रख सकते हैं।

नियाग्रा की श्रंखला में अब तक 


7 comments:

  1. आपके यात्रा वृतान्त बड़े मजेदार होते हैं। वेसे आप जॉब क्या करते हो।

    ReplyDelete
    Replies
    1. मेरा काम एक तकनीकी परामर्शदाता यानि टेक्निकल कन्सलटेन्ट का है।

      Delete
    2. तो सर आप जॉब के बिच में ईतना घूमने फिरने का समय  कैसे निकाल लेते हैं ।

      Delete
    3. कुछ यात्राएँ नौकरी की वज़ह से होती हैं बाकी छुट्टी लेकर। लिखना तो यात्राओं को पूरा करने के बाद भी होता रहता है।:)

      Delete
  2. आपक डफरिन दीप पर यात्रा बृतान्त हमे पसंद आया । धन्यवाद

    ReplyDelete

LinkWithin

Related Posts with Thumbnails