Sunday, April 7, 2019

ऐसे आया मेरे घर-आँगन में वसंत.. Colours of Spring

कई बार आपने महसूस किया होगा कि जब आप छुट्टियों पर घूमने निकलते हैं तो प्रकृति के नए नए रंग आपको आकर्षित करते हैं। ये रंग किसी भी रूप में अचानक सामने आ जाते हैं। कभी सूर्यास्त की लाली, कभी पक्षियों का कलरव, कहीं कोई अजीबोगरीब वृक्ष तो कही चटकीले फूलों की बहार। सवाल है कि क्या आपके अपने शहर में ये दृश्य दिखते नहीं या दिखते भी हैं तो आप उनके आस पास पहुँच नहीं पाते? उन्हें देखने के लिए फुर्सत के पल  नहीं निकाल पाते।

काँटों का ताज Christ Thorn 
पिछले दो महीनों से मैंने अपने घर के आस पास  रंग बदलते वसंत के जिन लम्हों को करीब से महसूस किया उनमें से कुछ को चुन कर आज आप के सामने लाया हूँ। आशा है ये छवियाँ आपकी आँखों को तृप्त करेंगी और साथ ही आप कुछ और सजग हो जाएँगे अपने आसपास की इस खूबसूरती को बटोरने।
नीली गुलमोहर Jacaranda (जैकेरेण्डा)
यही वक़्त है नीली गुलमोहर यानी जेकेरेण्डा को खिलते देखने का। दूर से ही इसकी बैंगनी फूल आपका ध्यान अपनी ओर खींच लेते हैं। गुलमोहर की तरह की पत्तियाँ और पूरे पेड़ को फूलों से भर देने की इसकी विशेषता की वज़ह से ही इसका नाम नीली गुलमोहर पड़ा है। वैसे इस पेड़ को मूल रूप से दक्षिण अमेरिका का माना गया है पर अब इसकी पहुँच विश्व के कोने कोने में है।

काँटों का ताज Crown of Thorns
काँटेदार पौधों के फूल बड़े मनमोहक होते हैं। गुलाब अपनी इसी खासियत के लिए जाना जाता है। यीशू के सर पर काँटों का ताज था तो इस फूल का नाम भी उनकी याद दिलाने के लिए वैसा ही रख दिया गया। ये फूल मुझे बेहद पसंद है खासकर तब जब ये अपनी पंखुड़ियाँ खोल रहा होता है।
 पीला  गुड़हल Yellow Hibiscus
क्या आपको पता है कि पीला गुड़हल हवाई द्वीप के राष्ट्रीय फूल का दर्जा रखता है। वहाँ स्त्रियाँ अगर इसे अपने दाएँ कान के ऊपर लगाएँ तो इसका अर्थ होता है कि वो अकेली हैं और अगर बाएँ कान पर तो मतलब वे शादी शुदा हैं या उनका कोई पुरुष मित्र है।

इसकी सुंदरता में चार चाँद इसके मध्य से निकलने वाली पतली सी डंडी लगाती है जिसके आखिरी सिरे को देखने से लगता है कि किसी रूपवती कन्या के माथे की बिंदिया हो। 
सहजन के फूल Drumstick Tree, Sahjan


मेरे घर के पिछवाड़े में सहजन के करीब आधा दर्जन पेड़ हैं पर पिछले साल वो मेरी नज़रों में खास तौर पर बने रहे क्यूँकि उन्हीं पर पहली बार अपना भोजन तलाशते मुझे बैंगनी शकरखोरा दिखाई पड़ा था। फरवरी के महीने में जब ये फूलों से भर गया था तब मैं सुबह सूरज की किरणों से इसके पहले स्पर्श का मंज़र देखना नहीं भूलता था।
पिटुनिया Petunia
पिटुनिया भी मूल रूप से दक्षिण अमेरिकी फूल माना जाता है। वहाँ की लोककथाओं में इस फूल को सकारात्मक उर्जा देने वाला बताया गया है। आप इस के खूबसूरत रंगों के बीच वक़्त बिताएँगे तो मन को भी रंगीन होते देर नहीं लगेगी।
सुबबूल River Tamarind, Subabul
पिछले साल अप्रैल में राँची में जब तूफान आया था तो ये पेड़ तेज आवाज़ के साथ चरमरा गया था। बाद में मुझे पता चला कि इसका नाम सुबबूल है। भले ही ये कमजोर हो पर इस पेड़ की खासियत है कि ये सालों भर हरा रहता है और बड़ी तेजी से बढ़ता है। मार्च में जब इसकी फुनगियों में फूल आने शुरु हुए तो इसकी खूबसूरती मेरी नज़रों में यकायक बढ़ गयी।
लाल जिरेनियम Red Geranium
मेरे मोहल्ले में सेमल के कई वृक्ष हैं। वसंत में सबसे पहले तानी फरवरी की शुरुआत से इसके फूलों की लाल छटा से पूरा इलाका ही इसकी लालिमा से दीप्त रहता है। पक्षी भी इसके फूलों का रसपान कने के लिए लालायित रहते हैं। 
सेमल Semal
सिर्फ फूलों की बात करें तो फल बुरा मान जाएँगे। वैसे तो घर के आस पास आम के कई पेड़ हैं पर उनमें फल कभी कभी आते हैं पर ये अपना नींबू गमलों से ही अपने फल की वर्षा करता रहता है।
नींबू Lemon
वैसे आपको कौन से गुड़हल पसंद आया पीला या गुलाबी?
 गुलाबी गुड़हल Pink Hibiscus
जी हाँ ये हैं हमारी आपकी धन्नो रानी!इनके बिना किसी सब्जी का क्या स्वाद ? कुछ लोग इसकी उत्पत्ति ईरान की बताते हैं पर कई अन्य सभ्यताएँ इसे ईसा पूर्व से ही इस्तेमाल करना जानती थीं। हाँ ये जरूर है कि इसकी सुगंष को दक्षिण और मध्य एशियाई विश्व के अन्य देशों की अपेक्षा सबसे ज्यादा पसंद करते हैं।

धनिया के फूल Coriander Flowers

वसंत में भले ही आपने इन्हें याद ना किया हो पर गर्मियों में इनकी चटनी के बिना बात कैसे बनेगी? वैसे इनका वज़ूद वसंद का मोहताज नहीं। इनकी हरियाली तो सालों भर रहती है।

पुदीना Mint
अब इन खिलती कलियों के बारे में कुछ कहने की जरूरत है मुझे.?
जिरेनियम की खिलती कलियाँ Geranium
इस पौधे को आप मोटा भाई भी कह सकते हैं। भाई यानी डॉन इसलिए कि दादा परदादा मेक्सिको से ताल्लुक रखते थे और मोटा इनकी पत्तियों के स्वरूप के चलते। वैसे पूँछ की तरह फैलते स्वरूप की वज़ह से इसे Donkey's Tail और Lamb's Tail के नाम से भी जाना जाता है। 

मोटा भाई 😉 Donkey's Tail or Lamb's Tail
दक्षिण भारतीय व्यंजन के साथ साथ पोहे और कढ़ी का स्वाद भी बस इनकी कुछ पत्तियों से चुटकियों में बढ़ जाता है़। पिछले हफ्ते ही इसके पौधों में धनिया की तरह ही छोटे छोटे फूल आने लगे हैं जो अपने में वैसी ही महक समेटे हैं। वैसे हम सभी इस मामले में खुशकिस्मत हैं कि ये करी पत्ते का ये पौधा मुख्य रूप से सिर्द भारतीय उपमहाद्वीप में पाया जाता है। आसके आलावा दक्षिण पूर्वी एशियाई देशों में इसकी मिलती जुलती किस्में मिलती हैं।

करी पत्ता Kari Patta/Sweet Neem 
अगर आपको मेरे साथ सफ़र करना पसंद है तो Facebook Page Twitter handle Instagram  पर अपनी उपस्थिति दर्ज़ कराना ना भूलें।

6 comments:

LinkWithin

Related Posts with Thumbnails